Aatamaabhivyakti

extremely CRUDE ; completely PURE

245 Posts

3097 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 9545 postid : 804606

वेरी अर्जेंट ब्लॉग(आदरणीय मोदी जी से ज़रूरी बात)

  • SocialTwist Tell-a-Friend

प्रिय ब्लॉगर साथियों
इस ब्लॉग के माध्यम से मैं भारतीय रेलवे में सफर के दौरान हुई असुरक्षा की तरफ आपका और माननीय प्रधानमंत्री जी का ध्यान आकर्षित करना चाहती हूँ .भारतीय रेलवे की ए सी बोगी भी सुरक्षित नहीं है.हालांकि मेरे साथ हुई घटना में अगर पुलिस( रेलवे )और विशाखापत्तनम वाल्तेयर पुलिस मिलजुल कर प्रयास करे तो उपलब्ध सूचना तसवीरें और रेलवे स्टेशन के सी सी टी वी फुटेज से चोर की शिनाख्त की जा सकती है.आदरणीय प्रधान मंत्री जी से निवेदन है कि वे इस घटना को छोटी ना समझें और अगर समझते भी हैं तो ब्रिस्बेन में उन्होंने जनता को सम्बोधित करते हुए यही कहा है मैं छोटे छोटे लोगों के छोटे छोटे काम करने के लिए ही हूँ बहुत भरोसा है मुझे उन पर उनकी बातों पर .झारखंड (जमशेदपुर )की आम जनता उनमें एक सफल प्रधान सेवक के साथ साथ एक अपनत्व से भरा जन नेता की छवि भी तलाश रही है.कृपया हमें अनुगृहीत करिये .Picture 044

आदरणीय सर जी (मोदी जी)
सादर प्रणाम

आप को एक प्रधान सेवक के रूप में देख कर हर तीसरा भारतीय गौरवान्वित है.मैं भी थी पर आपके प्रत्येक लिंक पर अपनी शिकायत भेजने पर जब उचित कार्यवाही नहीं हो रही तब बहुत अफ़सोस हो रहा है .मैं वाकई बहुत परेशान हूँ.
SDC10314घटना 7 नवम्बर 2014 की है जब नौकरी के स्थांतरण के कारण हम फ़लकनामा एक्सप्रेस से सिकंदराबाद(आंध्र प्रदेश) से खड़गपुर (पश्चिम बंगाल ) आ रहे थे.हमारा बर्थ A1  19 और 20 था हमारे सामान की पैकिंग अग्रवाल पैकर्स मूवर्स ने की थी .11 बजे रात्रि भोजन कर हम सो गए थे ऐश कलर की VIP  जिसमें हमारे जेवर (करीब साढ़े तीन लाख के )और कॅश पंद्रह हज़ार थे और नीली सफारी जिसमें कपडे थे हमने चेन लॉक कर दिया था .श्रीकाकुलम रेलवे स्टेशन पर 7:30बजे जब नींद खुली हमारा सामान चोरी हो चूका था उस बोगी में कोई पोलिस नहीं थी दो लडके गुंटूर से विशाखापत्तनम करंट टिकट लेकर चढ़े थे .8 नवम्बर को 12:30 बजे दिन में हमें पार्वतीपुरम आंध्र प्रदेश राज्य परिवहन निगम के एक बस कंडक्टर श्री समुखा (phone no. 7382921064) का फ़ोन आया कि दो सूटकेस बस में मिला है एक के अंदर के कागज़ात पर लिखे नंबर से फ़ोन कर रहा हूँ.हम 13 नवम्बर को सूचना के आधार पर पार्वतीपुरम पहुंचे वहां सूटकेस में बेहद अस्त व्यस्त ढंग से हमें काग ज़ात वाला सूटकेस मिला पर जेवर और कॅश गायब थे .दूसरा सफारी हमारा नहीं था.हमने श्रीकाकुलम में टी सी श्री बी आर जी राऊ (फ़ोन नंबर 9440267080 ) को सूचित किया उन्होंने FIR लिखा था खुर्दा रोड पर पुलिस (श्री मिश्रा) ने हमसे पूछताछ कर सूचना को विशाखापत्तनम ,विज़ियनगरम (Vizianagram)और वाल्तेयर (valteir)को भेजा .
ज़रूरी सूचनाएं इस प्रकार हैं …
१) जो दो लडके करंट टिकट ले कर चढ़े थे उनका विवरण है
a) B.Raajshekhar (Guntoor to Vishakhapatnam) ID 972892804617 ticket no.90932610(berth no. 22)
b) A.Devkumar (M-44) BERTH NO.13
A.Prabhakarrao (M-44) berth no 14
90937780/81 EFT NO.0825436(Guntoor to Vishakhapatnam)
c)  bus conductor  APSRTC  Parvateepuram———Samukha phone no. 7382921064
APSRTC thana Mr.Rama Rao —-7382920773
APSRTC ….Mr.prabhakar rao —–7382921064

Picture 042सर जी आपसे करबद्ध प्रार्थना है कि हमारी शिकायत [पर उचित कार्यवाही का आदेश दिया जाए और सामान जल्द से जल्द बरामद किया जाए.कुछ तसवीरें भेज रही हूँ जो इस शिकायत से सम्बंधित हैं भारतीय रेलवे सुरक्षित नहीं हैं कृपा कर हमारी मदद करें .
सधन्यवाद
यमुना पाठक
दिनेश कुमार पाठक

जमशेदपुर झारखण्ड
831005



Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

13 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Bhola nath Pal के द्वारा
November 24, 2014

आपने अच्छी पैरवी की है आशा है चोर पकड़े जाएंगे i माल बरामद होगा i प्रगति से अवश्य अवगत कराएं ……….

sudhajaiswal के द्वारा
November 24, 2014

यमुना जी, आपके साथ मेरी दुआएं हैं आप हौसला रखिये ईश्वर अच्छे लोगो के साथ बुरा नहीं कर सकते, आप प्रयास जारी रखिये हो सकता है सामान वापस मिल जाए|

DR. SHIKHA KAUSHIK के द्वारा
November 22, 2014

यमुना जी -आपने अपने साथ घटित इस दुर्घटना को ब्लॉग पर साझा कर सभी को सचेत कर दिया है .रेलवे prashasan को इस hani kee bharpayi karni chahiye .meri sadbhavnayen aapke साथ hain .ishvar kare aapka jevar v paisa sheeghr aapko vapas mil jaye aur choro को kadi saza mile .

    yamunapathak के द्वारा
    November 24, 2014

    शिखा जी ऐसी असुरक्षा में जब बोगी में पुलिस नहीं होती अपने सामान की रक्षा स्वयं ही करनी होगी यूँ भी भारतीयों को बस ईमानदारी से कर चुकाना चाहिए सुरक्षा माँगने का अधिकार उन्हें नहीं है . लोग AC में क्यों यात्रा करें राजधानी में भी घटना हो गई थी समस्त न्यूज़ चैनल २४*७ में शोर मचाते रहते हैं पर काम की बात कोई नहीं करता अरे मोदी जी अमेरिका जाएं ओबामा जी भारत आएं आम आदमी (MANGO MAN )को इससे क्या करना है उसे सुरक्षा चाहिए. साभार

yamunapathak के द्वारा
November 20, 2014

प्रिय ब्लॉगर साथियों जब a1 डिब्बों में ये हालत है तो हम आप शेष की भयावह कल्पना कर सकते हैं.ए सी में कोई घुस कर चैन काट कर अटैची ले जाता है और सात घंटे बाद एक बस स्टॉप से अटैची मिलाने का फोन आता है जब उसे कलेक्ट करने जाओ तो कीमती सामन गायब होते हैं सिर्फ कागजात मिलते हैं अजीब सी घटना है . आप सबों से इस घटना को साझा इसीलिये किया कि रेल यात्रा के दौरान आस पास बैठने वाले सहयात्री से भी सचेत रहे और रात भर जाग कर पुस्तक पढ़ते हुए या गेम खेलते हुए यात्रा करें क्योंकि अपनी सुरक्षा अपने हाथ या फिर एक ही स्थान पर जड़ बन जाइए क्या फायदा महंगी टिकट लेकर सुरक्षित यात्रा के भरोसे और आस में मेहनत और ईमानदारी से जोड़े धन गँवा दिए जाएं वह भी अपनी नहीं बल्कि रेलवे प्रशासन की लापरवाही से अटेंडर टी सी कोई देख नहीं सका और आश्चर्य की बात कि एक भी पुलिस एस्कॉर्ट्स नहीं था उस ए सी बोगी में . आप सब मेरे साथ हैं मुझे संतुष्टि है पर इस घटना का पर्दाफाश होना बहुत ज़रूरी है. साभार

ranjanagupta के द्वारा
November 20, 2014

सादर यमुना जी ! बेहद अफ़सोस की बात है कि एसी बोगी में ये अब हुआ ? वाक़ई आम आदमी बहुत परेशान है ! इस तरह की घट नायें लोगो की रेलयात्रा सबंधित चिन्ता बढा देती है ! आपको ईश्वर करे सभी खोई वस्तुएँ वापस मिल जाएँ ,हम सब की शुभ कामनायें आपके साथ है !

pkdubey के द्वारा
November 19, 2014

आदरणीया,इस घटना से एक सीख और इसका विवरण पढ़ते हुए मुझे ऐसा लग रहा है ,यह पूरा एक गिरोह है ,जिसमे बहुत से लोग शामिल हैं,शायद ,पैकर्स और मोवेर्स भी ,क्यूंकि उन्हें पता था ,क्या चोरी करना है अथवा किसकी चोरी करना है,उन्होंने पैसे ,जेवर ,कपडे ले लिए और कागजात सुरक्षित तरीके से वापस भेजने की कोशिश की ,जिससे वह आप तक पहुँच सकें | ऐसे गिरोहों का पर्दाफास होना बहुत आवश्यक है |

jlsingh के द्वारा
November 18, 2014

आदरणीय यमुना जी, सादर अभिवादन! आपने जमशेदपुर में कदमा का पिन कोड लिखा है. मुझे लगता है आप कहीं कदमा में ठहरी हैं. मैं अपना कांटेक्ट न. 9431567275 दे रहा हा हूँ. मुझे आप से गहरी संवेदना है. अगर आप चाहें तो मुझसे संपर्क कर सकती हैं. अगर सम्भव हुआ तो मिलने भी आ सकता हूँ. सादर जवाहर लाल सिंह, 133 /L – 4, Old Baradwari , साकची, जमशेदपुर 831001

Shobha के द्वारा
November 18, 2014

प्रिय यमुना जी पढ़ कर बहुत दुःख हुआ बहुत बड़ा नुक्सान हैं शोभा

abhishek shukla के द्वारा
November 18, 2014

प्रणाम आदरणीया! हर सरकार एक उम्मीद लेकर आती है की अब कुछ अच्छा होगा पर दुर्भाग्य से सिर्फ धोखा मिलता है। रात भर जग कर या तो यात्री अपने सामान की हिफाज़त करे या लुट जाए..हाँ यही नियति है रेल यात्रियों की|

sadguruji के द्वारा
November 18, 2014

आदरणीया यमुना पाठक जी ! इस संकट के समय में हम सब आपके साथ हैं ! रेलवे की लापरवाही से आपको इतना नुकसान हुआ है ! रेलवे कुछ नहीं कर सकती तो ट्रेन की बोगियों में साफ साफ लिख दे कि मुसाफिर अपनी और अपने सामान की रक्षा स्वयं करें ! आप पूरा विवरण दैनिक जागरण अख़बार को भेज दें ! मोदी जी कहते हैं कि मैं आम आदमी के बेहद करीब हूँ ! परन्तु वास्तव में ऐसा नहीं है,क्योंकि उनके मातहत कर्मचारी एक्टिव नहीं हैं ! यदि एक्टिव होते तो आपकी बात मोदी जी तक पहुँचती और तुरंत कोई कार्यवाही होती ! मोदी जी की वेबसाइट देखने वाले कर्मचारियों से मेरा अनुरोध है कि आदरणीया यमुना पाठक जी की समस्या मोदी जी तक न सिर्फ पहुंचाई जाये,बल्कि उसपर तुरंत कार्यवाही भी की जाये ! इस परेशानी के समय में सभी ब्लॉगर आपके साथ हैं ! शीघ्र कार्यवाही होने की शुभकामनाओं सहित !

deepak pande के द्वारा
November 18, 2014

Sunkar behad afsos hua yamuna jee meri bhee aadarniya modi jee evam railway se karbaddh prarthna hai ki is mamle par uchit kadam uthayein

    yamunapathak के द्वारा
    November 18, 2014

    दीपक जी आपका धन्यवाद बेहद आश्चर्य की बात है कि ac बोगी से सामान चोरी हो जाते हैं और कोई कुछ नहीं जान पाटा ना टी सी ना RPF ना अटेंडेंट …भारतीय क्या करें एक स्थान पर बैठे रहे मैंने इस घटना को ट्विटर पीएमओ ऑफिस पीएमओ पेज mygov.in प्रत्येक जगह लिखा है ..मोदी जी छोटे छोटे लोगों की छोटी छोटी समस्याओं के समाधान की उद्घोषणा अभी अभी किये हैं क्या वे हम भारतीयों के साथ हैं झारखण्ड की आम जनता यह जानना चाहती है साभार


topic of the week



latest from jagran